[500+] Barish Shayari in Hindi | हिंदी में बरिश शायरी (2022)

Share this:

If you are looking for Barish Shayari in Hindi then you are landed in right place, in this post we have more than 500+ हिंदी में बरिश शायरी Also, Beautiful Barish Shayari, Barish ka Mausam, Dosti Barish Shayari, Best Barish Quotes in Hindi, Barish Shayari Gulzar, Barish Status in Hindi, Barsaat Shayari Status, Romantic Barish Shayari in Hindi in Hindi.

अगर आप बरिश शायरी हिंदी में खोज रहे हैं तो आप सही जगह पर आए हैं, इस पोस्ट में हमारे पास 500+ से अधिक हिंदी में बरिश शायरी हैं साथ ही, सुंदर बरिश शायरी, बरिश का मौसम, दोस्ती बारिश शायरी, सर्वश्रेष्ठ बरिश उद्धरण हिंदी में, बारिश शायरी गुलज़ार, हिंदी में बरिश स्थिति, बरसात शायरी स्थिति, हिंदी में रोमांटिक बरिश शायरी।

Barish Shayari in Hindi

Barish Shayari in Hindi

तुम्हें बारिश पसंद है मुझे बारिश में तुम,
तुम्हें हँसना पसंद है मुझे हस्ती हुए तुम,
तुम्हें बोलना पसंद है मुझे बोलते हुए तुम,
तुम्हें सब कुछ पसंद है और मुझे बस तुम।

हम ख़ास तो नहीं मगर बारिश की उन
कतरों की तरह अनमोल हैं,
जो मिट्टी में समां जायें तो फिर कभी नहीं
मिला करते।

अर्ज़ किया है-
बारिश की बूंदों में कभी भीग लिया करो,
काम को छोड़कर मस्ती में जी लिया करो,
कपडे गीले होते है, तो होने दिया करो,
ऐसे मौसम में एक-दूजे को प्यार किया करो।

ए बारिश ज़रा थम के बरस,
जब मेरा यार आ जाये तो जम के बरस,
पहले न बरस की वो आ ना सके,
फिर इतना बरस की वो जा ना सके।

यह दौलत भी ले लो यह शोहरत भी ले लो,
भले छीन लो मुझसे मेरी जवानी,
मगर मुझको लौटा दो वह बचपन का सावन,
वो कागज़ की कश्ती वो बारिश का पानी।

Beautiful Barish Shayari

Beautiful Barish Shayari

ऐ बारिश मेरे अपनो को यह पैगाम देना,
खुशियों का दिन हँसी की शाम देना,
जब कोई पढे प्यार से मेरे इस पैगाम को,
तो उन को चेहरे पर प्यारी सी मुस्कान देना।

इश्क़ करने वाले आँखों की बात समझ लेते हैं,
सपनो में यार आए तो उसे मुलाकात समझ लेते हैं,
रूठता तो आसमान भी है अपनी ज़मीन के लिए,
यह तो लोग ही उसे बरसात समझ लेते है।

सुबह का मौसम बारिश का साथ है,
हवा ठंडी जिससे ताजगी का एहसास है,
बना के रखिए चाय और पकौड़े,
बस हम आपके घर के थोड़े से पास हैं।

क्या मस्त मौसम आया है,
हर तरफ पानी ही पानी लाया है,
तुम घर से बाहर मत निकलना,
वरना लोग कहेंगे बरसात हुई नहीं,
और मेंढक निकल आया है।

जमीन जल चुकी हैं, आसमान बाकी हैं,
सूखे कुएँ तुम्हारा इम्तिहान बाकी हैं,
बादलों बरस जाना समय पर इस बार,
किसी का मकान गिरवी तो किसी का लगान बाकी हैं।

Barish ka Mausam

Barish ka Mausam

ख़ुद को इतना भी न बचाया कर,
बारिशें हुआ करे तो भीग जाया कर।

कितनी जल्दी ज़िन्दगी गुज़र जाती है
प्यास भुझ्ती नहीं बरसात चली जाती है
तेरी याद कुछ इस तरह आती है
नींद आती नहीं मगर रात गुज़र जाती है

पहली बारिश का नशा ही,
कुछ अलग होता है,
पलको को छूते ही,
सीधा दिल पे असर होता है।

सुबह का मौसम बारिश का साथ है,
हवा ठंडी जिससे ताजगी का एहसास है,
बना के रखिए चाय और पकौड़े,
बस हम आपके घर के थोड़े से पास हैं।

एक तो ये रात, उफ़ ये बरसात,
इक तो साथ नही तेरा, उफ़ ये दर्द बेहिसाब
कितनी अजीब सी है बात,
मेरे ही बस में नही मेरे ये हालात।

Dosti Barish Shayari

Dosti Barish Shayari

बहुत दिनों से थी ये आसमान की साजिश,
आज पूरी हुई उनकी ख्वाहिश,
भीग लो अपनों को याद कर के,
मुबारक हो आपको साल की ये पहली बारिश।

कितना अधूरा लगता है तब,
जब बादल हो पर बारिश ना हो,
जब जिंदगी हो पर प्यार ना हो,
जब आँखे हो पर ख्वाब ना हो,
और जब कोई अपना हो पर साथ ना हो।

कितनी जल्दी ज़िन्दगी गुज़र जाती है,
प्यास भुझ्ती नहीं बरसात चली जाती है.
तेरी याद कुछ इस तरह आती है.
नींद आती नहीं मगर रात गुज़र जाती है।

बारिश में हम पानी बनकर बरस जायेंगे,
पतझड़ में भी फूल बनकर बिखर जायेंगे,
क्या हुआ जो हम आपको सताते हैं,
कभी आप इन लम्हो ले लिए भी तरस जायेंगे।

आसमान को ज़मीन से मिलने की आस थी,
उदास था आसमान भी ज़मीन भी उदास थी,
बरस गए बादल जल्दी,
ज़मीन कब से इंतज़ार में थी।

Best Barish Quotes in Hindi

Best Barish Quotes in Hindi

एक हम हैं जो इश्क़ कि बारिश करते है,
एक वह हैं जो भीगने को तैयार ही नहीं।

मोहब्बत तो वो बारिश है,
जिससे छूने की चाहत मैं,
हथेलियां तो गीली हो जाती है,
पर हाथ खाली ही रह जाते है।

सुना है बहुत बारिश है तुम्हारे शहर में,
ज्यादा भीगना मत,
अगर धूल गई सारी गलतफहमियां,
तो फिर बहुत याद आएंगे हम।

कभी बेपनाह बरस पडी, कभी गुम सी है,
यह बारिश भी कुछ – कुछ तुम सी है।

Barish Shayari Gulzar

Barish Shayari Gulzar

मदमस्त बूँदों को गिरते देखा,
बादल का हाल बताते हैं,
तड़पन में अपनी बन के बारिश,
वो धरा से मिलने आते हैं।

एक अर्से बाद बारिश हुई मेरे शहर में,
देखो ना,
कुछ बूंदें अब तक पलकों से लिपटी हैं।

भीगे हैं खिड़की के शीशे,
भीगा है मन भी मेरा,
लगता है बारिश हुई थी कल रात,
बाहर भी और अंदर भी।

ए बारिश कहीं और जाके बरसा कर,
मेरा दिल बहुत कमजोर है,
बात बात पर रोया करता है।

ये बारिश के बाद कि बूंदा-बांदी इस तरह लगती है,
मानो तुम्हारा अलविदा बोलने के बाद भी थोड़ी देर बात करना।

Barish Status in Hindi

Barish Status in Hindi

अगर भीगने का इतना ही शौक है,
बारिश मे तो देखो ना मेरी आँखों मे,
बारिश तो हर एक के लिए होती है,
लेकिन ये आँखें सिर्फ तुम्हारे लिए बरसती है ।

बरस रही थी बारिश बाहर
और वो भीग रहा था मुझ में

मेरे ख्यालों में वही सपनो में वही,
लेकिन उनकी यादों में हम थे ही नहीं,
हम जागते रहे दुनियां सोती रही,
एक बारिश ही थी जो हमारे साथ रोती रही।

सावन का मौसम जब भी धरती से
मिलने आता है तब तब अपनी तड़प
का दास्ताँ बरस कर सुनाता है
क्यों होती है अक्सर जुदाई उनसे
जिसको दिल चाहे क्यों।

पूछते थे ना कितना प्यार है तुम्हे हम से
लो अब गिन लो… बारिश की ये बूँदें

Barsaat Shayari Status

Barsaat Shayari Status

बारिश से मोहब्बत मुझे कुछ इस क़दर है,
वो बरश्ता उधर है,
और मेरा दिल धड़कता इधर है।

वो बारिश की बूंदों को बाहें फैला कर समेट लेता है,
वो जानता है कि हर बूंद उसकी ही तरह तन्हा है।

ये इश्क़ का मौसम अजीब है जनाब,
इस बारिश में कई रिश्ते धुल जाते है,
बेगानों से करते है मोहब्बत कुछ लोग,
और अपनों के ही आंसू भूल जाते है।

बारिश सुहानी और मोहब्बत पुरानी,
जब भी मिलती है नई सी लगती है।

न कोई छत्रछाया है,
न कोई मोह माया है,
बारिश से ज्यादा तो मुझको
तेरी यादों ने भिगाया है।

Romantic Barish Shayari in Hindi

Romantic Barish Shayari in Hindi

जो वो बरसा तो ‘इश्क़’ है,
और मैं बरसा तो बस अश्क होगा।

भीगी मौसम की भीगी सी रात,
भीगी सी याद भुली हुई बात,
भुला हुआ वक्त वो भीगी सी आँखें,
वो बीता हुआ साथ,
मुबारक हो आपको साल की पहली बरसात।

ग़म-ए-बारिशे इसीलिए नहीं कि तुम चले गए,
बल्कि इसलिए कि हम ख़ुद को भूल गए।

एहसास का तूफान,
किसी के प्रति प्रेम जगाता है,
और फिर मोह का अतिरेक,
उसमें बाढ़ ले ही आता है।

सुबह का मौसम बारिश का साथ है,
हवा ठंडी जिससे ताजगी का एहसास है,
बना के रखिए चाय और पकौड़े,
बस हम आपके घर के थोड़े से पास हैं।

बारिश की बूंदों को
छातों से रोका न करो,
बेचारी बहुत दूर से तुमसे मिलने आती हैं।

न जाने वो शाम कब आएगी,
बारिश, चाय, पकौड़े
मैं और तुम साथ होंगे।

ये बारिश भी बिल्कुल तुम्हारी तरह है,
फर्क सिर्फ इतना है,
तुम मन को भीगा देते हो,
वो पूरे तन को भीगा देती है।

लगता है आज मौसम खुशनुमा है।
हुई नहीं बारिश फिर भी वो भीग रही है।

बारिशों की भी अपनी कहानी है,
जैसे अश्कों के साथ बहता पानी है।

कह दो बादलों से,
कुछ ‘पानी मेरी आँखों से उधार ले जाये।

Final Words

Hope you liked this huge collection of 500+ Barish Shayari in Hindi do share with your friends, family and loved ones, please share your thoughts about हिंदी में बरिश शायरी in the comments section below!

Share this:

Leave a Comment